आजादी के बाद चलेगी इस गांव में पहली बस, खुशी का माहौल

हिमायतनगर/नांदेड़(महाराष्ट्र). नांदेड़ जिले की तहसील के कार्लापी गांव में स्वतंत्रता के बाद से महाराष्ट्र राज्य परिवहन महामंडल की बस आई ही नहीं, जिससे यहां के विद्यार्थियाें को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सामाजिक कार्यकर्ता परमेश्वर लुम्दे ने इस समस्या को हल कर दिया है। उन्होंने इसके लिए संबंधित कार्यालय के चक्कर लगाए। उनके इस सफल प्रयास से कार्ला पी. गांव में स्वतंत्रता के बाद पहली बस आएगी। इससे ग्रामवासियों में उत्साह का माहौल है। नांदेड़-किनवट राज्य से 2 किमी. की दूरी पर होने के कारण ग्राम कार्ला पी. गांव में पिछले कई वर्षों से रास्ते के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वर्तमान में रास्ता बनने के बाद भी बस लौटकर जाने के लिए जगह न होने से गांव में बस नहीं आ रही है। इससे यहां के नागरिकों समेत विद्यार्थियों को असुविधा हो रही है। कार्लापी. गांव से 2 किमी. चलकर कार्लाफाटा में शाला के विद्यार्थी घंटों तक बस की राह देखते हैं।






Related News

  • बेटी के लिए मन्नत मांगते हैं अरुणाचल के लोग
  • बीमारी और मुफलिसी से तंग एकलौती बेटी को 15 हजार में बेचा
  • बच्चे की पढ़ाई के लिए फेसबुक पर किडनी बेचने निकाली मां
  • मूंगफली बेचने वाली की विकलांग बेटी यूपीएससी में चुनी गई
  • पर्यावरण : गर्मी के साथ बढ रहा है ओजोन का खतरा
  • अस्पताल में हुई मौत, नहीं मिली एंबुलेंस, बाइक से घर ले गए पत्नी की लाश
  • 1 लख 70 हजार रुपए में बिकी एक गाय
  • आज भी अप्रकाशित हैं बाबा साहब के चार हजार पेज