गाय किसी जाति या धर्म की नहीं, किसानों की मेरुदंड

केंद्रीय कृषिमंत्री  राधा मोहनने अंतराष्ट्रीय दुग्ध दिवस पर  किया गाय की महिमा का गुणगान
नई दिल्ली. ए. देश में गाय को लेकर हो रही राजनीति पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने आज कहा कि गाय किसी जाति या धर्म की नहीं है बल्कि यह किसानों की आय बढ़ाने में मेरुदंड का काम करती है.  श्री सिंह ने अंतरराष्ट्रीय दुग्ध दिवस पर यहां पशु पालन विभाग की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कुछ लोग गाय को लेकर राजनीति कर रहे हैं और उन्हें समझना चाहिये कि यह इटली नहीं है, भारत है. उन्होंने कहा कि पशुपालन किसानों की आय बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है लेकिन कांग्रेस के 60 साल के शासन के दौरान पशुपालन और डेयरी क्षेत्र की उपेक्षा की गयी. कृषि मंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का नाम लिये बगैर कहा कि पशु पालन और डेयरी की उपेक्षा के लिए उन्हें दोषी नहीं ठहराया जा सकता, क्योंकि उन्हें एक परिवार की ओर से निर्देश मिलते थे. उन्होंने कहा कि पिछली सरकार की निष्ठा एक परिवार के प्रति थी और इस परिवार ने देश पर साठ साल तक राज किया है. अब यही परिवार डेयरी क्षेत्र की चिन्ता कर रहा है. श्री सिंह ने कहा कि 2011-14 के दौरान कुल 39 करोड़ 80 लाख टन दूध का उत्पादन हुआ था जो 2014-2017 के दौरान बढ़कर 46 करोड़ 55 लाख टन हो गया. वर्ष 2011-14 के दौरान किसानों को दूध 29 रुपये प्रति लीटर मिलता था जो 2014-17 के दौरान बढ़कर 33 रुपये प्रति लीटर हो गया है.






Related News

  • संघ प्रमुख के हाथों आमिर ने लिया 16 साल बाद कोई पुरस्कार
  • आत्मचिन्तन के लिए विपक्ष का चित्त अब तक स्थिर नहीं
  • जो विधर्मी होते हैं, वहीं भगवा को आतंकवादी समझते हैं : साध्वी प्रज्ञा
  • सेना पर पत्थर फेंकने वालों पर बम बरसाओ : तोगडिया
  • ग्लोबलगिविंग की भारत में संभावनाभरी दस्तक
  • मायावती ने दलितो का मूर्ख बनाया, नसीमुउदीन ने कट्टरता को पोसा
  • गाय किसी जाति या धर्म की नहीं, किसानों की मेरुदंड
  • मेघालय में भाजपा नेता ने ‘बिची बीफ’ को लेकर पार्टी छोड़ी