तेजस्वी यादव ने कहा, नहीं दूंगा इस्तीफा

बोले तेजस्वी यादव, कहा, जो चल रहा है, मीडिया में ही चल रहा है.
राष्ट्रपति चुनाव के बाद हो सकता है तेजस्वी पर फैसला, इस्तीफे का है भारी दबाव
पटना. आज देश के नए राष्ट्रपति के चुनाव लिए वोट डाले जाएंगे लेकिन राजनीति के मैदान में सबकी नजरें बिहार पर भी टिकी होंगी. राष्ट्रपति चुनाव खत्म होने के बाद बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के बारे में फैसला किए जाने के आसार हैं. तेजस्वी यादव के खिलाफ दर्ज एफआईआर से शुरू हुआ राजनीतिक संकट जल्द ही कोई नया मोड़ ले सकता है. सूत्रों के मुताबि़क लालू प्रसाद की पार्टी आरजेडी और नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू-दोनों ही दोनों ही इस मामले में कोई फैसला करने के लिए राष्ट्रपति चुनाव खत्म होने का इंतजार कर रहे हैं. लिहाजा आज राष्ट्रपति चुनाव खत्म होने के बाद तेजस्वी मामले में कोई निर्णय आ सकता है. नीतीश कुमार तेजस्वी को बर्खास्त कर सकते हैं या फिर तेजस्वी को इस्तीफा देना पड़ सकता है. ऐसी अटकलें तेज हैं कि तेजस्वी के इस्तीफे की हालत में आरजेडी नीतीश सरकार को बाहर से समर्थन दे सकती है.
आरजेडी ने फिर किया तेजस्वी का बचाव
इस बीच आरजेडी ने रविवार को भी तेजस्वी यादव का जमकर बचाव किया. आरजेडी के प्रवक्ता मनोज झा ने कहा, सीबीआई, ईडी और आईटी तीनों एजेंसियां भाजपा के पते से चल रही हैं. नीतीश की छवि है तो तेजस्वी की भी छवि है पौने दो साल में एक भी आरोप नहीँ है. नीतीश जी गंभीर आदमी हैं वो तेजस्वी पर लगे आरोपों की सच्चाई जानते हैं.खुद तेजस्वी यादव भी कैमरे के सामने आये तो देश में इमरजेंसी जैसे माहौल का हवाला देकर विपक्षी एकता की बात करते रहे. इस्तीफे से जुड़े सवालों को उन्होंने टाल दिया. महागठबंधन में शामिल तीसरी पार्टी कांग्रेस भी चाहती थी कि राष्ट्रपति चुनाव तक कोई बड़ा फैसला न हो. ऐसे में ये भी देखना होगा कि राष्ट्रपति चुनाव खत्म होने के बाद कांग्रेस क्या करती है. कांग्रेस का अब तक यही कहती आ रही है कि बिहार में महागठबंधन हर हाल में कायम रहना चाहिए. कांग्रेस भले ही नीतीश-लालू को साथ देखना चाहती हो, लेकिन क्या इसके लिए वो लालू यादव को बेटे का इस्तीफा दिलाने के लिए तैयार कर पायेगी ये सवाल भी चर्चा में हैं कि क्या नीतीश कुमार की स्क्रप्टि तय हो चुकी है कहीं ऐसा तो नहीं कि तेजस्वी तो सिर्फ बहाना है और नीतीश को बीजेपी के साथ जाना है






Related News

  • आजादी के 70 साल…बाकी हैं कई सवाल…!
  • आंदोलन के नाम पर जो किसान दूध, सब्जियां सड़क पर फेंकते हैं, उन्हें अन्नदाता नहीं कहा जा सकता :सुमित्रा महाजन
  • बिहार के कई जिले में 72 घंटे की बारिश से हाल बेहाल
  • वहां जाएं, जहां सुरक्षित लगता है : इंद्रेश कुमार
  • 15 दिन में निर्णय होगा कि सरकार के साथ रहना है या नहीं : राजू शेट्टी
  • बिहार में जनादेश के साथ धोखा, जनता सिखायेगी सबक:शरद
  • वरुण गांधी बोले- मुझे फूलों से स्वागत पसंद नहीं, फूल तो मृत होते हैं
  • मिहान में नहीं चालू हुईं 30 फीसदी कंपनियां