बुलेट को बैलेट के पीछे छिपाना चाहता है आतंकी हाफिज सईद

नई दिल्ली. ए. भारत ने लश्करे तैयबा के सरगना हाफिज सईद के राजनीतिक दल बनाने की रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आज कहा कि उसके खून से रंगे हाथों को वह वोट की स्याही से छिपाना चाहता है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने यहां नियमित ब्रीफिंग में हाफिज सईद के राजनीतिक दल बनाये जाने के बारे में प्रतिक्रिया मांगे जाने पर कहा कि वह एक खूंखार दुर्दान्त आतंकवादी है। वह मुंबई में 2008 में हुए हमले का सूत्रधार है जिसमें कई विदेशी नागरिकों सहित 160 लोग मारे गये थे। श्री बागले ने कहा कि बताया जाता है कि वह अभी पाकिस्तान में नज़रबंद है। संयुक्त राष्ट्र की समिति 1267 के अंतर्गत प्रतिबंधित ऐसा आतंकवादी किसी भी नाम से संगठन चलाये, वह दुनिया की नज़र में रहता ही है। उसे पाकिस्तान में क्या छूट मिली है, इसे सभी देश जानते हैं। उन्होंने कहा कि क्या ऐसा आतंकवादी ‘बुलेट’ को ‘बैलेट’ के पीछे छिपाना चाहता है। उसके हाथ ना जाने कितने मासूम लोगों के खून से रंगे हैं। क्या वह खून के उन दागों को वोट की स्याही से छिपाना चाहता है। उन्होंने कहा कि यह पाकिस्तान सरकार की जिम्मेदारी है कि ऐसे संगठन कानून के दायरे में रखे जायें। पाकिस्तान में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर पूछे गये एक सवाल पर प्रवक्ता ने कहा कि नेतृत्व परिवर्तन पाकिस्तान का आंतरिक मामला है। जहां तक भारत के रुख की बात है तो वह पुराने रुख पर कायम है कि आतंकवाद और बातचीत साथ साथ नहीं चल सकते।






Related News

  • संघ प्रमुख के हाथों आमिर ने लिया 16 साल बाद कोई पुरस्कार
  • आत्मचिन्तन के लिए विपक्ष का चित्त अब तक स्थिर नहीं
  • जो विधर्मी होते हैं, वहीं भगवा को आतंकवादी समझते हैं : साध्वी प्रज्ञा
  • सेना पर पत्थर फेंकने वालों पर बम बरसाओ : तोगडिया
  • ग्लोबलगिविंग की भारत में संभावनाभरी दस्तक
  • मायावती ने दलितो का मूर्ख बनाया, नसीमुउदीन ने कट्टरता को पोसा
  • गाय किसी जाति या धर्म की नहीं, किसानों की मेरुदंड
  • मेघालय में भाजपा नेता ने ‘बिची बीफ’ को लेकर पार्टी छोड़ी