भाई ने भाई को सपरिवार जिंदा जलाया, चार की मौत

कटिहार. ए. बिहार में कटिहार जिले के बारसोई थाना क्षेत्र के चांदी गांव में भूमि विवाद को लेकर कलयुगी भाई ने अपने ही सहोदर भाई को निद्रावस्था में सपरिवार आज तड़के जिंदा जला दिया जिससे दो बच्चियों समेत चार लोगों की ददर्नाक मौत हो गयी. पुलिस सूत्रों ने आज यहां बताया कि जिले के चांदी गांव निवासी मनोज सिंह और उसके भाई केदारनाथ सिंह (47 वर्ष ) के बीच पैतृक संपत्ति के बंटवारे को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था. मनोज के ऊपर काफी कर्ज था और वह पैतृक संपत्ति बेचकर इससे छुटकारा पाना चाहता था. इसी बात को लेकर रविवार शाम को भाईयों के बीच झगड़ा काफी बढ़ गया था. हालांकि परिवार के अन्य सदस्यों द्वारा बीच बचाव किये जाने के बाद मामला शांत हुआ और सभी सोने चले गये. सूत्रों ने बताया कि केदारनाथ सिंह जब अपने पूरे परिवार के साथ सोये हुए थे तभी मनोज ने कमरे का दरवाजा बाहर से बंद कर ताला लगा दिया. इसके बाद मनोज ने खिड़की के जरिए पूरे कमरे में पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी. इस घटना में केदारनाथ सिंह की पत्नी प्रतिमा देवी (40) और पुत्री डिंपल कुमारी (15) की मौके पर ही मौत हो गयी.
वहीं, परिवार के मुखिया केदारनाथ सिंह और सोनी कुमारी सिंह (17) बुरी तरह झुलस गयी. शोर सुनकर इकट्ठा हुए स्थानीय ग्रामीणों ने किसी तरह आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन वे असफल रहे. किसी तरह ग्रामीणों के सहयोग से दरवाजा तोड़ा गया और घायलों को अनुमंडल अस्पताल बारसोई में भर्ती कराया गया, जहां घायलों की स्थिति की गंभीरता को देखते हुए चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए उन्हें कटिहार सदर अस्पताल रेफर कर दिया. कटिहार पहुंचते ही सोनी कुमारी की मौत हो गयी. केदारनाथ सिंह को मेडिकल कॉलेज कटिहार रेफर कर दिया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी भी मौत हो गयी. सूत्रों ने बताया कि मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच छानबीन की. घटना के बाद आरोपी मनोज सिंह फरार है. इस सिलसिले में संबंधित थाना में एक प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. पुलिस आरोपित की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.






Related News

  • आजादी के 70 साल…बाकी हैं कई सवाल…!
  • आंदोलन के नाम पर जो किसान दूध, सब्जियां सड़क पर फेंकते हैं, उन्हें अन्नदाता नहीं कहा जा सकता :सुमित्रा महाजन
  • बिहार के कई जिले में 72 घंटे की बारिश से हाल बेहाल
  • वहां जाएं, जहां सुरक्षित लगता है : इंद्रेश कुमार
  • 15 दिन में निर्णय होगा कि सरकार के साथ रहना है या नहीं : राजू शेट्टी
  • बिहार में जनादेश के साथ धोखा, जनता सिखायेगी सबक:शरद
  • वरुण गांधी बोले- मुझे फूलों से स्वागत पसंद नहीं, फूल तो मृत होते हैं
  • मिहान में नहीं चालू हुईं 30 फीसदी कंपनियां